दिल की धड़कन रुक सी गई

दिल की धड़कन रुक सी गई,
सांसें मेरी थम सी गई,
पूछा हमने दिल के डॉक्टर से तो पता चला,
कि सर्दी के कारण आपकी यादें दिल में जम सी गई।

ऐ खुदा हिचकियों में

ऐ खुदा हिचकियों में
कुछ तो फर्क डालना होता
अब कैसे पता करूँ कि
कौनसी वाली याद कर रही है

कौन ‘कमबख्त’ कहता है लड़के सोचते कम हैं

कौन ‘कमबख्त’ कहता है, लड़के सोचते कम हैं
.
.
.
.
.
.
.
.
लड़की एक बार मुस्करा कर तो देखे
शेरवानी के रंग से लेकर बच्चों तक के नाम सोच लेते
हैं।

रहिमन कूलर राखिये… बिन कूलर सब सून।

रहिमन कूलर राखिये… बिन कूलर सब सून।
कूलर बिना ना किसी को… गर्मी में मिले सुकून।।

वो बेवफा होती तो यारों बात और थी

वो बेवफा होती तो यारों बात और थी
उसकी वफ़ा से ही दिल में जखम है।
हर दुसरे दिन उसका मैसेज आ जाता है
“मोबाइल रिचार्ज करा दो बैलेंस ख़तम है”

निगाहों से निगाहें मिला कर तो देखो

निगाहों से निगाहें मिला कर तो देखो,
कभी किसी लड़की को पटा कर तो देखो।
हसरतें दिल में दबाने से क्या फ़ायदा,
अपने हाथों से ज़रा दबा कर तो देखो।

मेरी कब्र के पास Wi-Fi जरूर लगाना

मेरी कब्र के पास Wi-Fi जरूर लगाना,
क्योंकि मेरे दोस्त इतने कमीने है ..
कि Wi-Fi यूज करने के लिए, जरूर मेरे पास आएगे..

जभी मिलती है inbox पे कुछ कहने से डरती है वो..

जभी मिलती है inbox पे कुछ कहने से डरती है वो..
कब आउंगा में online इस इंतज़ार में रहती है वो..
बड़ी ही सरीफ है बात बात पे शर्माती है वो…
गुस्सा न हो जाऊं कहीं हर बात पे sorry बोलती है वो…
मेरे लिऐ आज भी थोड़ा सा वक्त खर्च करती है वो …
google पर आकर आज भी मुझे सर्च करती है वो..

खिडकी से देखा तो रस्ते पे कोई नही था

खिडकी से देखा तो रस्ते पे कोई नही था
खिडकी से देखा तो रस्ते पे कोई नही था
वाह वाह
फिर रस्ते पे जाके देखा तो खिडकी मै कोई नही था

उम्र की राह में जज्बात बदल जाते है।

उम्र की राह में जज्बात बदल जाते है।
वक़्त की आंधी में हालात बदल जाते है
सोचता हूं काम कर-कर के रिकॉर्ड तोड़ दूं।
कमबख्त सैलेरी देख के ख्यालात बदल जाते हैं

ना वक्त इतना हैं कि सिलेबस पूरा किया जाए;

ना वक्त इतना हैं कि सिलेबस पूरा किया जाए;
ना तरकीब कोई की एग्जाम पास किया जाए;
ना जाने कौन सा दर्द दिया है इस पढ़ाई ने;
ना रोया जाय और ना सोया जाए।

बेझिझक मुस्कुराये जो भी गम है

बेझिझक मुस्कुराये जो भी गम है,
जिंदगी में टेंशन किसको कम है,
अच्छा या बुरा तो केवल भ्रम है,
जिंदगी का नाम ही कभी ख़ुशी कभी गम है।

मोहब्बत के खर्चो की बड़ी लंबी कहानी है

मोहब्बत के खर्चो की बड़ी लंबी कहानी है,
कभी फिल्म दिखानी है तो कभी शोपिंग करानी है,
मास्टर रोज कहता है कहाँ है फीस के पैसे?
उसे समझाऊं मैं कैसे की मुझे छोरी पटानी है!!

तेरी दुनिया में कोई गम ना हो

तेरी दुनिया में कोई गम ना हो,
तेरी खुशियाँ कभी कम न हो,
भगवान तुझे ऐसी आइटम दे,
जो अग्निपथ की चिकनी चमेली से कम ना हो !!